रविवार, 31 दिसंबर 2017

नवसंवत 2075 -2018 क्या कहता है -पढ़ें !झा "मेरठ "

ॐ श्रीगणेशायनमः,ॐ श्रीसरस्वत्यैनमः ,ॐ श्रीगुरुचरणकामलेभ्योनमः  ---नव श्रीसंवत  2075 की शुरुआत 17 /03 /2018 शनिवार सायंकाल 6 /42 पर कन्या लग्न से हो रही है | लग्नेश बुध कर्मेश बनकर सातवें भाव में लाभेश चंद्र व्ययेश सूर्य एवं भावेश -धनेश शुक्र के साथ चतुर्ग्रही योग में मंगल +शनि से दृष्ट है | इससे यह निश्चित है कि देश में भौतिक विकास उत्तम होगा | ग्रह परिषद के वार्षिक चुनाव में राजा "सूर्यदेव  "और मन्त्री शनि को बनाया गया है |  पुत्र शनि है तो पिता सूर्यदेव किन्तु व्यवहार में एक दूसरे के कट्टर विरोधी हैं | मंत्री शनि का युद्ध के देवता मंगल से गठजोड़ 7 /03 /2018 तक चलेगा | मंगल युद्ध से सम्बंधित गोला -बारूद ,विशेष मारक अस्त्र -शस्त्र एकत्रित करने पर विशेष खर्च करायेगा | कहीं युद्धोत्पात में भारी गोला -बारूद भी चलवा सकता है | ---विशेष ध्यान दें ---इस साल शनिदेव की क्रूर दृष्टि पश्चिमी देश -प्रदेशों पर पड़ेगी -अतः भारी विनाशलीला को जन्म दे सकती है | प्रमाण ---"शनैचरः क्रमातपश्यन तद्देशान प्रपीड्येत ,दुर्भिक्षं देश भङ्गा दैविगृहो राजविडंवरैः "---आगे -पश्चिमोत्तर के देशों में कहीं भयंकर भूकम्प ,दिग्दाह ,तूफान ,शासन के विपरीत बगावत ,ज्वालामुखी विस्फोट ,आतंकित उग्रवादी जनांदोलन ,तोड़फोड़ ,अस्त्र -शस्त्र रूपी विनाश के कारण कोई देश -प्रदेश -महानगर या भूभाग तहस -नहस हो सकता है | दैहिक -दैविक -भौतिक आपदा से भारत भी अछूता नहीं रहेगा | कारन --भारत देश -की प्रभाव राशि कर्क -मकर में राहु -केतु का वर्चस्व बना है | 2 /5 /2018 से 6 /11 /2018 तक मंदातिचारी मंगल केतु के साथ उच्चस्थ प्रभाव डालेगा | मंगल का अपना स्वभाव है युद्ध कराना तो केतु भारी विनाश ,भूमि पर छिन्न -भिन्नता कराता है | एक और प्रमाण देखते हैं ---पूर्वाषाढ़ा काशि राजमुत्तरा हन्ति कैकतम"--अर्थात --भूभाग कहीं का नहीं विभाजित हो जाता है | या कोई छोटा -मोटा देश बड़े राष्ट्र में विलय हो जाता है | राष्ट्रनायक विनय रहित एक दूसरे की बातें नहीं सुनते -उल्टा दुःख देते हैं | --एक और प्रमाण --रविसेतु यदि मंत्रिणी पार्थिवा विनय संरहिता बहु दुःखदा "-नववर्ष की हार्दिक शुभकानायें ---नोट नव संवत में होने वाली तमाम बातों को क्रम से लिखेंगें -पढ़ने हेतु एवं  -फ्री ज्योतिष एकबार सेवा हेतु यहाँ पधारें ----https://www.facebook.com/kanhaiyalal.jhashastri   --- आपका- एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस झा मेरठ-

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

-आपका एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस झा "मेरठ "

ज्योतिष की सभी सेवा अनिश्चित काल तक अनुपब्ध रहेगी -झा "मेरठ "

सभी ज्योतिष प्रेमियों ,साथ ही मेरे पेज से, समूहों से जुड़ें और मैं अपने समस्त मित्रों को सादर नमन करता हूँ | कृपया ध्यान दें -सभी दिन एक जै...