शनिवार, 17 दिसंबर 2016

सपने शुभ दिखे या अशुभ क्या निदान करें पढ़ें !ज्योतिषी झा "मेरठ "

-दोस्तों -शुभ स्वप्न दिखने पर शीघ्र उठ जाना चाहिए और अशुभ स्वप्न देखने पर पुनः सो जाना उचित रहता है,चाहे समय कोई भी हो ।  -----अगर अशुभ स्वप्न देखें तो उस स्वप्न की कहानी साधुओं ,मित्रों तथा भुदेवों को पहले सुनाने की कोशिश करनी चाहिए --क्योंकि इनके आशीर्वाद से स्वप्न की अशुभता समाप्त हो जाती है ।  जैसे -स्वप्ने दृष्टे शोभनेनैव विद्यात पश्चात दृष्टो यस्सपाकं विधते । "तद वक्तव्यम्सा धुमित्रद्विजेभ्योते चाशीर्मिवर्धयेयुर्नरेन्द्रियम" । । --------दुःखद सपने दिखने के बाद पुनः सोकर उठने पर स्वप्न की कहानी तत्काल किसी को नहीं बतानी चाहिए । अर्थात सर्वप्रथम गंगाजल से स्नान करना चाहिए और भगवान शिव की स्तुति करनी चाहिए । इससे सुखद अनुभूति होगी ।  ----------दुःखद स्वप्न देखने के बाद नित्य क्रिया से निवृत्त होकर सर्व प्रथम गायों की पूजा करनी चाहिए ,और ब्राह्मणों को नमन करके यथा योग तिल,अन्न ,हो सके तो स्वर्ण का दान करना चाहिए --इससे दुःख सुःख में बदल जाता है ।  ----------उक्तं च बृहस्पति प्रणीतम च स्वप्नाध्ययम पठेदति "---दुःखद स्वप्न देखने के बाद बृहस्पति देव रचित इस ग्रन्थ का स्वाधाय करने से भी सुखद अनुभूति होती है ।  ------दुःखद सपने देखने बाद नित्य क्रिया से निवृत्त होकर तिल या लाल सरसों का गायत्री मन्त्र से हवन करना चाहिए इससे भी दुःख की जगह सुःख मिलता है ।  --------------ज्योतिष सम्बंधित लेखों को पढ़ना चाहते हैं तो इस लिंक पर पधारें बिना शर्त के---- https://www.facebook.com/kanhaiyalal.jhashastri आपका --एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस ज्योतिषी झा "मेरठ "

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

-आपका एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस झा "मेरठ "

ज्योतिष की सभी सेवा अनिश्चित काल तक अनुपब्ध रहेगी -झा "मेरठ "

सभी ज्योतिष प्रेमियों ,साथ ही मेरे पेज से, समूहों से जुड़ें और मैं अपने समस्त मित्रों को सादर नमन करता हूँ | कृपया ध्यान दें -सभी दिन एक जै...