मंगलवार, 13 दिसंबर 2016

पाक्षिक भविष्यवाणी को जरूर परखें 14 -12-16 से ज्योतिषी झा "मेरठ "

14 -12 12016 से 29 -12 -2016 तक की भविष्यवाणी की बात करें उससे पूर्व इस शास्त्र के प्रमाण पर गौर करें ---"बुधस्य पंचवाराःस्यु यत्र मासे निरंतरम ,प्रजास्च सुख सम्पन्ना सुभिक्षम च प्रजायते "---इस प्रमाण का भावार्थ है कि इस माह में पांच बुधवार होने से अच्छा होगा यानि लोगों में सौख्य -समृद्धि बढ़ेगी । साथ ही प्रजाजन सुख शान्ति का अनुभव करेंगें । पश्चिम के किन्हीं देशों में नई हलचल संभव है । देश की राजनीति में अकल्पित उलटफेर संभव है । ---एक और प्रमाण देखें --"ग्रहा सभी त्रेकादस ,संयोग बने अब आय ,युद्ध कहीं पर होयगा ,कालबली भरमाय "----अर्थात -पश्चिमोत्तर सीमाओं पर चौकसी विशेष बरतनी चाहिए । कश्मीर समस्या और भी जटिल बन सकती है । खाड़ी के देश तेल पानी पर लड़ाई झगड़ा करेंगें । किसी बड़े देश पर आतंकी हमला हो सकता है । ----तेजी मन्दी की बात करें तो ---रोजमर्रा की चीजें कम होने से मंहगाई बढ़ेगी । कुम्भ का मंगल केतु शुक्र के साथ तेजी को बल देगा --गेंहू ,जौं ,चना ,मटर ,सभी दालें ,सोयाबीन ,सूरजमुखी ,मूंगफली ,चाय ,काफी ,रूई ,ऊनी -सूतीवस्त्र ,बिल्डिंग मेटेरियल ,काष्ठ ,धातुओं के भाव बढ़ सकते हैं । ---आकाश लक्षण ---बुध शनि उदयास्त एवम ग्रहगति परिवर्तन से मौसम ख़राब होगा । जहाँ -तहाँ न्यूनाधिक बारिस होगी । बर्फबारी होने ,कोहरा छाने ,दुर्दिन से क्षति होगी । उत्तर भारत में शीतलहर चलेगी । ----आपका एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस ज्योतिषी झा मेरठ --निःशुल्क ज्योतिष एकबार सेवा प्राप्त करने हेतु इस लिंक पर पधारें --  https://web.facebook.com/kanhaiyalal.jhashastri

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

-आपका एस्ट्रो वर्ल्ड हिन्दी सर्विस झा "मेरठ "

श्री गुरुजी और राजा हरिसिंह की ऐतिहासिक भेंट-पढ़ें-ज्योतिषी "झा"{मेरठ}

“हर दिन पावन-”-17 अक्तूबर/इतिहास-स्मृति-श्री गुरुजी और राजा हरिसिंह की ऐतिहासिक भेंट15 अगस्त, 1947 का दिन स्वतन्त्रता के साथ अनेक समस्या...